January 01, 2018

सफलता का आधार - धैर्य और संतोष

सफलता के लिए जीवन में धैर्य और संतोष का होना आवश्यक है। जो भी बिजनेस लक्ष्य तय किया जाता है, उसे पूरा होने में कुछ समय जरूर लगता है। ऐसे में आपको खुद पर काबू रखना होता है और रिजल्ट के लिए इंतजार करना होता है।हालांकि, यह सब होते हुए देखना और इंतजार करना चुनौतीपूर्ण है, लेकिन आपको लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए ऐसा करना होता है।अगर आप लक्ष्य को पाने के लिए जल्दबाजी करते है और अपना धैर्य खो देते है तो आपका बना बनाया काम भी बिगड़ सकता है जिससे आप अपने बिजनेस लक्ष्य के नजदीक पहुँचकर भी उससे दूर हो सकते है। एक सफल बिजनेसमैन को वर्तमान के नजरिए से देखे तो वह सफल जरूर नजर आऐगा मगर वास्तव मे यह उसकी वर्षो की कड़ी मेहनत का परिणाम होता है।

April 04, 2017

संकट - जीवन में बदलाव का कारक

संकटग्रस्त व्यक्ति जब अस्तित्व बचाने के लिए लड़ता है तो पूरी शिद्दत से लड़ता है। जब जीवन मरण का प्रश्न होता है तो चेतना तीव्र हो जाती है। संकट नए विचार पैदा कर शक्ति के नए

July 10, 2016

सिर चढ़ जाती है सफलता ?

सफलता का जश्न हर कोई मनाना चाहता है लेकिन कई बार यह सफलता हमारे दिमाग पर इतनी अधिक हावी हो जाती है कि हम इसे ही सब कुछ मानने लगते हैँ। इसमेँ नुकसान यह

May 05, 2016

ध्यान के जरिये मिटाएं अकेलापन

कुछ स्थितियोँ मेँ अकेलापन सबसे बड़ी समस्या बन जाता है। यह समस्या किसी भी उम्र मेँ आ सकती है तथा यह अकेलापन

March 14, 2016

Motivational Vichaar


  " Delusion arises from anger. The mind is bewildered by delusion. Reasoning is destroyed when the mind is bewildered. One falls down when reasoning is destroyed."

                                                       Srimadbhagwadgita

      "क्रोध से  भ्रम  पैदा होता है. भ्रम से बुद्धि व्यग्र होती है. जब बुद्धि व्यग्र होती है तब तर्क नष्ट हो जाता है. जब तर्क नष्ट होता है तब व्यक्ति का पतन हो जाता है."

 श्रीमद्भगवद्गीता