November 17, 2018

समस्या का कोई आकार नही होता


समस्या का कोई आकार नही होता और उसका छोटा या बडा होना हमारे उसे हल करने की शक्ति पर निर्भर करता है। हम हमारे अनुसार उसे छोटा या बड़ा मान लेते है। इसके अतिरिक्त यदि हम उसका सही समय पर निराकरण  नही करते है तो समस्या आगे बढ जाती है और हमे बड़ी लगने लगती है ।इसलिए समस्या के आकार को देखने अथवा उससे घबराने के बजाय हमे उसका सही समय पर  समाधान खोजकर निराकरण कर देना चाहिए ।

5 comments:

RADHA TIWARI said...

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (19-11-2018) को "महकता चमन है" (चर्चा अंक-3160) पर भी होगी।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
राधा तिवारी

JEEWANTIPS said...

Radha ji,
THANKS

Shanti Garg said...

सही कहा.......
आभार ।

Anita said...

सार्थक सुझाव

MY GOOD NIVESH said...

Very good post...