January 09, 2016

अपनी रचनात्मकता को बढ़ाएं और आगे बढ़ते रहेँ

                                 संस्था अथवा लोग, सभी पहले से ज्यादा रचनात्मक बनने के तरीके तलाशते रहते हैँ। कम्पनियाँ नए उत्पाद और सेवाओँ के साथ आने के लिए प्रयासरत रहती है जिससे उन्हेँ उत्पाद और सेवाओँ मेँ सबसे पहले आने का लाभ
मिल सके और बाजार (Market) मेँ उनका एक अलग स्थान बनेँ। इसी प्रकार लोग लीक से हटकर अपने अन्दर खूबियोँ का विकास कर आत्मविश्वास और गुणोँ का विकास करने की कोशिश कर अधिक उत्पादक बन सकते हैँ। लेकिन एक मुख्य प्रश्न यह उठता है कि कोई व्यक्ति किस प्रकार अधिक रचनात्मक, आत्मविश्वासी और ऊर्जावान बने? इसके लिए एक उपाय यह हो सकता है कि आप अपनी व्यस्त जिँदगी से कुछ समय निकालेँ और अधिक रचनात्मक बनने के लिए नई चीजोँ से परिचित होकर नए क्षेत्रोँ मेँ अपनी सोच के दायरेँ को बढ़ा सकेँ। एक उदाहरण के तौर पर जब हम अपनी प्रोफेशनल जिँदगी से थोड़े समय के लिए ब्रेक लेते हैँ तो स्वयँ को अधिक ऊर्जावान महसूस करते हैँ और यही समय अधिक रचनात्मकता विकसित करने के लिए भी उपयुक्त होता है। आस-पास के वातावरण के बदलने और अनुकूल परिस्थितियोँ के होने का इन्तजार करने के बजाय स्वयं को बदलकर परिस्थितियोँ को अपने अनुकूल बनाएं।

16 comments:

Upasna Siag said...

sahi kaha...!

राजीव कुमार झा said...

बहुत सुंदर प्रस्तुति. नव वर्ष की शुभकामनाएं !

Kavita Rawat said...

आस-पास के वातावरण के बदलने और अनुकूल परिस्थितियोँ के होने का इन्तजार करने के बजाय स्वयं को बदलकर परिस्थितियोँ को अपने अनुकूल बनाएं।....सटीक बात ..

Kailash Sharma said...

बहुत सुन्दर और सार्थक चिंतन...

Kailash Sharma said...

बहुत सुन्दर और सार्थक चिंतन...

Shanti Garg said...

सुन्दर व सार्थक रचना...
नववर्ष मंगल कामनाओँ के साथ मकर संक्रान्ति की शुभकामनाएँ।

डॉ. मोनिका शर्मा said...

सार्थक पोस्ट ....शुभकामनायें

गगन शर्मा, कुछ अलग सा said...

मंगल पर्व की शुभकामनाएं

राजेंद्र कुमार said...

सुन्दर व सार्थक रचना.

Sanju said...

Uttam soch ki post..
Sankranti ki shubhkamnaye..

vibha rani Shrivastava said...

आपकी लिखी रचना "पांच लिंकों का आनन्द में" शनिवार 23 जनवरी 2016 को लिंक की जाएगी ....
http://halchalwith5links.blogspot.in 
पर आप भी आइएगा ....धन्यवाद!

ई. प्रदीप कुमार साहनी said...

आपके ब्लॉग को यहाँ शामिल किया गया है ।
ब्लॉग"दीप"

यहाँ भी पधारें-
तेजाब हमले के पीड़िता की व्यथा-
"कैसा तेरा प्यार था"

Madhulika Patel said...

बहुत अच्छा और सार्थक लेख ।

Madhulika Patel said...

बहुत अच्छा और सार्थक लेख ।

JEEWANTIPS said...

vibha rani ji,
Jeewantips ki post ko Apne blog me shamil karne ke liye "Thanks"

BHAWANI SINGH SHEKHAWAT said...

Nice Jeewan tips are shared know about
Shri khatu shyam ji Mandir
| Khatu shyam ji Temple|
Khatu Shyam temple in Sikar
|Story Of Khatu Shyam Temple|
Aarti of khatu shyam Baba|
Photos Of Khatu Shyam Baba Temple
wallpapers Of Khatu Shyam Baba Temple
Bhajan Of Khatu Shyam Baba Temple
Khatushyam mela fair date 2016